Thu. Sep 23rd, 2021

O Naadan

अरे ओ नादान क्यों बेचैन हो दुनिया जहां के सवालों में क्यों हैरां हो इन हालातो में क्या फर्क पड़ता…